नई दिल्ली। भारतीय महिला कंपाउंड टीम ने तीरंदाजी में पहली बार पहला स्थान हासिल कर इतिहास बनाया है। अंताल्या बर्लिन विश्व कप में रजत पदक जीतने वाली भारतीय टीम के 342.6 अंक हैं,  जो दूसरे स्थान पर कायम चीनी ताइपे से छह अंक अधिक है। वहीं कोलंबिया, अमेरिका और दक्षिण कोरिया क्रमश: तीसरे, चौथे और पांचवें नंबर पर हैं। भारतीय कंपाउंड टीम को हाल ही में विश्व कप में फाइनल में पहुंचने का रैंकिंग में फायदा मिला है। 

भारत ने विश्व कप के इस सीजन में अंटाल्या और बर्लिन लेग में दो रजत पदक अपने नाम किये। दिव्या दयाल ने अंटाल्या में ज्योति सुरेखा और मुस्कान किरार का खिताब जीतने में साथ दिया। वहीं बर्लिन में ज्योति और मुस्कान के साथ त्रिषा देब थीं। महिला रिकर्व टीम 8वें स्थान पर बरकरार है। वहीं, पुरुष टीम 12वें स्थान पर है।

दिव्या दयाल ने अंटाल्या में ज्योति सुरेखा और मुस्कान किरार का खिताब जीतने में साथ दिया। वहीं बर्लिन में ज्योति और मुस्कान के साथ त्रिषा देब थीं। महिला रिकर्व टीम 8वें स्थान पर बरकरार है। वहीं, पुरुष टीम 12वें स्थान पर है। वहीं व्यक्तिगत वर्ग में शीर्ष 10 में सिर्फ दीपिका और अभिषेक वर्मा ही दो भारतीय खिलाड़ी हैं। दोनों खिलाड़ी क्रमश: रिकर्व और कंपाउंड वर्ग में सातवें पायदान पर हैं।