जकार्ता,  पहली बार एशियाई खेलों में हिस्सा ले रहे भारत के 15 साल के निशानेबाज शार्दुल विहान ने गुरुवार को डबल ट्रैप में रजत पदक अपने नाम किया। यह भारत का इन खेलों में चौथा सिल्वर मेडल है। 2014 में निशानेबाजी में कदम रखने वाले शार्दुल 18वें एशियाई खेलों के फाइनल में केवल एक अंक से स्वर्ण पदक से चूक गए।

शार्दुल फाइनल में 73 अंकों के साथ दूसरा स्थान हासिल किया। इस स्पर्धा का स्वर्ण पदक दक्षिण कोरिया के शिन ह्यूवो को मिला। वहीं कतर के हामद अली अल मारी ने 53 अंकों के साथ कांस्य पदक जीता। भारत के एक अन्य निशानेबाज अंकुर मित्तल इस स्पर्धा के फाइनल में प्रवेश नहीं कर पाए। उन्हें क्वालिफिकेशन में नौवां स्थान हासिल हुआ। 

शार्दुल ने क्वालिफिकेशन में 141 अंकों के साथ पहला स्थान हासिल किया था। शार्दुल ने पिछले साल 14 बरस की उम्र में शॉटगन राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में चार स्वर्ण पदक जीते थे। एशियाई चैम्पियनशिप युगल स्वर्ण पदक विजेता रहे अनवर सुल्तान के मार्गदर्शन में अभ्यास कर रहे विहान मास्को में पिछले साल जूनियर विश्व चैम्पियनशिप में छठे स्थान पर रहे थे।