हमारे देश में रेलवे यात्रा का सबसे सुगम और लोकप्रिय साधन है क्योंकि आम लोग रेल किराये का वहन आसानी से कर सकते हैं. अक्सर ऐसा होता है कि लोग जल्दबाजी में बिना टिकट के ही ट्रेन में चढ़ जाते है, लेकिन मुसीबत तब आती जब इनका सामना टीटी से होता है. टीटी के आने पर ज्यादातर लोग घबरातें है क्योंकि उन्हें लगता है कि अगर टीटी ने पकड़ लिया तो भारी जुर्माना भरना पड़ सकता है.

भारतीय रेलवे ने यात्रियों की सुविधा का ख्याल रखते हुए नियम बदल दिए हैं ऐसे में आपको अब घबराने की कोई जरुरत नहीं है. रेलवे ने किसी वजह से टिकट न लेने वाले और वेटिंग टिकट वालों के लिए एक नई घोषणा की है वे अब अपनी टिकट ट्रेन में ही ले सकते हैं.
सिर्फ 10 रूपये का अतिरिक्त शुल्क

अगर आपके पास टिकट नहीं है तो आप 10 रूपये अतिरिक्त शुल्क देकर यात्रा के दौरान ही ट्रेन में टीटी से टिकट ले सकते हैं. रेलवे ने अब टीटी को हैंड हेल्ड मशीन दी गयी है जिसमे वो आपके नाम की टिकट निर्धारित किराये के मुताबिक बना कर देगा.

यह मशीन रेलवे के पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम के सर्वर से इंटरनेट द्वारा कनेक्ट होती है. फ़िलहाल यह सुविधा अभी सिर्फ सुपरफ़ास्ट ट्रेन के लिए ही शुरू की गई है. हालांकि रेलवे जल्दी ही इसे सभी ट्रेन में इसे आरंभ करेगी.

टिकट चेकिंग से पहले टीटी से करें संपर्क

इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए आपको टिकट चेकिंग से पहले टीटी से संपर्क करना होगा और पैसे का भुगतान कर अपने गंतव्य स्थान का टिकट बनवाना होगा. यदि आप टिकट चेकिंग के दौरान बिना टिकट के पकड़े जाते हैं तो आप इस सुविधा का लाभ नहीं ले सकते है और आपको पेनाल्टी भरना पड़ेगा.