हैदराबाद : पिछले सप्ताह ओडिशा, आंध्र प्रदेश और अन्य तटीय राज्यों को अपने चपेट में लेने वाले गंभीर चक्रवाती तूफान 'फोनी' के कारण दक्षिण मध्य रेलवे (एससीआर) को लगभग 2.98 करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान हुआ है. एससीआर ने एक विज्ञप्ति में कहा, 'दक्षिण मध्य रेलवे को गंभीर चक्रवाती तूफान 'फोनी' के कारण 2,97,92,581 रुपये राजस्व का नुकसान हुआ है.' विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस अवधि के दौरान कुल 137 ट्रेन सेवाएं प्रभावित हुईं.

120 ट्रेनों को पूरी तरह से रद्द किया गया
यात्रियों की सुरक्षा और ट्रेन परिचालन सुनिश्चित करने के लिए कई ट्रेनों को आंशिक रूप से रद्द करना पड़ा या उनके मार्ग में परिवर्तित करना पड़ा था. इसमें कहा गया है कि 120 ट्रेनों को पूरी तरह से रद्द कर दिया गया और 40,390 यात्रियों को किराये का पूरा रिफंड वापस किया गया था, जो 2.93 करोड़ रुपये था. एससीआर 'फोनी' का जोर कम होने के तत्काल बाद कार्रवाई में जुट गया था. उसने महत्वपूर्ण स्टेशनों पर फंसे यात्रियों की सुविधा के लिए तीन विशेष ट्रेनें चलाने की व्यवस्था की.

विशेष ट्रेनें चलाकर 20.90 लाख रुपये कमाए
एससीआर ने चार और पांच मई को क्रमशः सिकंदराबाद-भुवनेश्वर, विजयवाड़ा-हावड़ा और सिकंदराबाद-हावड़ा के बीच तीन तीन विशेष ट्रेनें चलाईं. विज्ञप्ति में बताया गया है कि लगभग 3,043 फंसे हुए यात्री अपने गंतव्यों की यात्रा करने में सक्षम हुए. इसमें कहा गया है कि एससीआर ने विशेष ट्रेनें चलाकर 20.90 लाख रुपये कमाए हैं.

चक्रवात 'फोनी' तीन मई को ओडिशा के पुरी के पास पहुंचा था जिससे 14 जिलों के 1.5 करोड़ से भी अधिक लोग प्रभावित हुए, जिसमें बिजली, पेयजल और दूरसंचार जैसी बुनियादी सुविधाओं को तहस नहस कर दिया. इस आपदा के कारण 5.08 लाख घरों को नुकसान पहुंचा और इसमें कम से कम 41 लोग मारे गए थे.