कोलंबो: हनीमून मनाने के लिए श्रीलंका आई एक ब्रिटिश महिला की मौत के मामले की जांच होगी. पुलिस ने बताया कि महिला के पति को कम से कम तब तक श्रीलंका में रोक कर रखा जाएगा जब तक महिला की मौत के मामले में बुधवार को औपचारिक सुनवाई नहीं हो जाती. पुलिस ने बताया कि ब्रिटिश महिला उशीला पटेल (31) के पति खिलन चंदरिया को अभी गिरफ्तार नहीं किया गया है और न ही उन पर कोई आरोप है, लेकिन उन्हें श्रीलंका से बाहर जाने से रोक दिया गया है. 

उशीला की मौत 25 अप्रैल को हुई थी. शादी के छह दिन बाद ही उनकी मौत हो गई. अपनी मौत से दो दिन पहले वह अपने पति के साथ श्रीलंका आई थीं और गाले शहर के एक होटल में दाखिल हुई थीं. दंपति के परिवार ने ब्रिटिश मीडिया को बताया है कि उशीला और खिलन खाद्य विषाक्तता (फूड पॉइजनिंग) के शिकार हो गए थे. खिलन (33) भी बीमार हो गए थे.

पुलिस ने कहा कि बुधवार को उशीला के मौत के मामले में एक सुनवाई होगी और अधिकारियों को उम्मीद है कि उस दिन तक टॉक्सिकोलॉजी रिपोर्ट आ जाएगी. टॉक्सिकोलॉजी रिपोर्ट से इस बात का पता लग सकेगा कि उशीला क्या वाकई खाद्य विषाक्तता (फूड पॉइजनिंग) की शिकार हुई. मुख्य मजिस्ट्रेट हर्षाना केकुनावेला ने सरकारी विश्लेषक से कहा था कि वह 15 मई को होने वाली सुनवाई के लिए सभी जरूरी रिपोर्ट मुहैया कराएं.