बठिंडा/नई दिल्‍ली: सिख दंगों पर कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा (Sam Pitroda) का बयान पार्टी के लिए गले की हड्डी बन चुका है. खासकर दिल्‍ली और पंजाब में हुए चुनावों से पहले आए इस बयान ने कांग्रेस की काफी फजीहत करा दी है. इन सबके बीच कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने सैम पित्रोदा के इस बयान को शर्मनाक बताया है. वहीं, राहुल के इस बयान पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने तंज कसा है. 

पीएम मोदी ने पंजाब के बठिंडा में एक रैली के दौरान कहा कि नामदार, आप अपने गुरू को डांटने का दिखावा क्यों कर रहो हो. क्योंकि आपके गुरू ने वह सब सार्वजनिक रूप से कह दिया, जो कांग्रेस के दिल में हमेशा था. पीएम मोदी ने कहा कि अपने गुरू के इस बयान के लिए आपको शर्म आनी चाहिए.

भाजपा द्वारा लगातार कांग्रेस पर निशाना साधे जाने के बीच पार्टी प्रमुख राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि उन्हें (पित्रौदा) अपने आप पर शर्म आनी चाहिए और देश से माफी मांगनी चाहिए. सिख दंगों के दोषियों को सजा मिलनी चाहिए. गांधी का बयान पित्रौदा के ‘हुआ तो हुआ’ बयान पर पैदा हुए जनाक्रोश के बाद नुकसान की भरपाई के तौर पर पंजाब में उनकी पहली रैली में आया है. पंजाब में एक रैली के दौरान राहुल गांधी ने सैम पि‍त्रोदा के इस बयान पर सफाई पेश की. इस मुद्दे पर बीजेपी लगातार कांग्रेस पर हमले बोल रही है.
वैसे कांग्रेस प्रमुख ने ट्वीट कर उनकी टिप्पणी को अस्वीकृत कर दिया था और पार्टी ने भी टिप्पणी से दूरी बना ली थी. उन्होंने यहां अपने भाषण में कहा, ‘सैम पित्रौदा ने 1984 (सिख विरोधी दंगे) के बारे में जो कुछ कहा है, वह गलत है और उन्हें देश से माफी मांगना चाहिए.’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं यह सार्वजनिक रूप से कह रहा हूं और मैंने फोन पर भी उनसे यही बात कही है. पित्रौदा जी, आपने जो कुछ कहा है, वह पूरी तरह गलत है, आपको अपने आप पर शर्म आनी चाहिए. आपको सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए.’