बठिंडा । कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी ने अपनी पार्टी की ओवरसीज इकाई के प्रमुख सैम पित्रौदा  को खरी खोटी सुनाई और कहा कि उन्हें (पित्रौदा को) 1984 के सिख विरोधी दंगे पर अपनी 'पूरी तरह गलत टिप्पणी' को लेकर शर्म आनी चाहिए और देश से माफी मांगनी चाहिए। इसे लेकर पीएम नरेंद्र मोदी ने पंजाब के बठिंडा में कहा कि, 'अरे नामदार, शर्म तो आपको आनी चाहिए।'
पीएम मोदी ने कहा, 'अरे नामदार (राहुल गांधी), शर्म आपको आनी चाहिए। 1984 के सिख दंगों को आज 35 साल हो रहे हैं। कांग्रेस की करतूतों की वजह से, आज तक सभी दंगा पीड़ितों को न्याय नहीं मिल पाया है। इंसाफ के नाम पर कांग्रेस वाले कमेटी बनाते गए, कमीशन बनते गए, इतने गंभीर मामले को रफा-दफा करते रहे। इतना ही नहीं, गंभीर आरोप वालों को कांग्रेस ने केंद्र में मंत्री बनाया। गंभीर आरोप वालों को चुनाव की बड़ी जिम्मेदारियां दी गईं, पंजाब का प्रभारी बनाया गया। उन्होंने कहा कि जब इसकी आलोचना हुई, पंजाब में जबरदस्त विरोध हुआ तो आपको उन्हें हटाना पड़ा था, लेकिन फिर आपने क्या किया? सारी आपत्तियों को नजरअंदाज, पंजाब की भावनाओं का अपमान करके, आपने उसी व्यक्ति को मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बना दिया। नामदार, शर्म आपको आनी चाहिए।'
पीएम मोदी ने कहा कि 1984 में जो कुछ हुआ, उसने पूरी इंसानियत को तार-तार कर दिया था। आपके इस चौकीदार ने इंसाफ का वादा आपसे किया था। उन्होंने कहा, 'आज मैं संतोष के साथ कह सकता हूं कि एक को फांसी के फंदे तक पहुंचाया है, बाकियों को उम्र कैद मिली है। जो अभी बचे हैं, वो भी ज्यादा दिन बाहर नहीं रह पाएंगे।' उन्होंने कहा कि कांग्रेस की एक और ऐतिहासिक गलती है, जिसको सुधारने का काम अब हो रहा है।
पीएम मोदी ने कहा कि 1947 में कांग्रेस ने बंटवारा तो करा दिया, लेकिन हमारी आस्था के केंद्र करतारपुर जी साहिब को कुछ ही किलोमीटर के फासले से पाकिस्तान में जाने दिया। ये हमारी आस्था के प्रति कांग्रेस की असंवेदनशीलता का प्रतीक है। आज हम यहां कॉरीडोर बनाने का काम रहे हैं, तब भी कांग्रेस के लोग पाकिस्तान के गुण गा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हुआ तो हुआ, वाले अहंकार में ही कांग्रेस ने अपना मेनिफेस्टो- अपना ढकोसला पत्र भी बनाया है। उसमें कहा गया है कि जान हथेली पर रखने वाले हमारे जवानों को हिंसा वाले इलाकों में जो विशेष अधिकार मिलता है वो हटा देंगे।
पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस चाहती है कि आतंक के पैरोकारों और पत्थरबाज़ों को हमारे जवानों को लहुलुहान करने का लाइसेंस मिल जाए। जवानों के साथ-साथ किसानों के साथ भी कांग्रेस ने हमेशा ठगी ही की है। उन्होंने कहा कि
10 साल में एक बार कर्जमाफी का ढिंडोरा पीटते हैं और उसमें भी घोटाला कर देते हैं। यहां पंजाब में भी तो कांग्रेस ने किसानों से कर्जमाफी की बात थी। उसकी क्या सच्चाई है, ये भी आप अच्छी तरह जानते हैं।