नई दिल्ली : अमूल ब्रांड (Amul) नाम से डेयरी उत्पाद बेचने वाली गुजरात सहकारी दुग्ध विपणन महासंघ ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली, महाराष्ट्र और अन्य राज्यों में दूध के दाम दो रुपये बढ़ाने का फैसला किया है. दूध के बढ़े हुए दाम 21 मई से लागू हो गए हैं. संघ की तरफ से यह निर्णय कच्चे माल की लागत बढ़ने के कारण किया गया. दाम बढ़ाने के फैसले के बाद कंपनी की तरफ से कहा गया कि पिछले दो साल से ज्यादा से अमूल ने किसी भी तरह के दूध पर दाम में बढ़ोतरी नहीं की थी. लेकिन, चारे की बढ़ती कीमत से पशुपालकों को राहत देने के मकसद से दाम बढ़ाए जा रहे हैं.

सीधे पशुपालकों को होगा फायदा
अमूल डेयरी का कहना है कि दाम में बढ़ोतरी करने के बाद जो भी पैसा आएगा, उसका सीधा फायदा पशुपालकों को दिया जाएगा. इस पैसे से दूध ज्यादा दाम देकर खरीदा जाएगा. जीसीएमएमएफ की तरफ से इस मौके पर यह भी कहा गया कि दूध के दाम दो साल बाद बढ़ाए गए हैं. इससे पहले, मार्च 2017 में दूध की कीमत में इजाफा किया गया था. 21 मई से अहमदाबाद में आधा लीटर अमूल गोल्ड की कीमत 27 रुपये, अमूल शक्ति 25 रुपये, अमूल ताजा 21 और अमूल डायमंड 28 रुपये में उपलब्ध होगा. सहकारी संगठन ने कहा कि गाय के दूध की कीमत में कोई बदलाव नहीं किया गया है.

इससे पहले पिछले मंगलवार (14 मई) को अमूल की तरफ से दूध का खरीद मूल्य बढ़ाने का निर्णय लिया गया. अमूल ने भैंस के दूध के एक किलो बसा (फैट) का दाम 10 रुपये बढ़ा दिया है, जबकि गाय के दूध में एक किलो बसा का मूल्य 4.5 रुपये बढ़ा दिया है. कंपनी का कहना है कि दूध के खरीद मूल्य में इस वृद्धि से सात लाख पशुपालकों को फायदा मिलेगा. पशुपालकों को बढ़ा हुआ दाम कंपनी की तरफ से 11 मई से दिया जा रहा है. उनको अब भैंस के दूध के एक किलो बसा के लिए 640 रुपये और गाय के दूध के एक किलो बसा के लिए 290 रुपये मिलेंगे.