जबलपुर। गुजरात के सूरत में एक कोचिंग क्लास में हुये अग्निकांड में २० बच्चों की मौत के बाद राज्य शासन के निर्देश मिलते ही जबलपुर जिले का शासन भी हरकत में आया, और शहर की कोिंचग क्लासेस में जिला प्रशासन और नगर निगम की संयुक्त टीम ने शहर की विभिन्न कोचिंग संस्थानों में आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान एक भी कोचिंग क्लास में अग्निदुर्घटना से बचाव के लिये संसाधन नहीं मिले और जहां मिले वहांएक्सपायरी डेट थे। प्रशासन की सशक्त कार्रवाई से कोचिंग संस्थानों में हडवंâप की स्थिति रही। इस दौरान कोचिंग संस्थान के टॉयलेट बाथरुम साफ नहीं मिलने पर उनके चालान भी नगर निगम द्वारा काटे गये। 
आयएएस व आईपीएस बनाने वालों की छोटी मानसिकता.......
बच्चों को आयएएस व आईपीएस बनाने का सपना दिखाने वाली कोचिंग संस्थान वर्धमान कोचिंग में कोचिंग संचालक की मानसिकता इसी से लगाया जा सकता है कि कोचिंग संस्थान के अंदर सेफ्टी फायर के  इंतजाम थे वहीं संस्थान के टॉयलेट बाथरुम बेहद गंदे थे। जब देश में स्वच्छता अभियान चल रहा हो और भारी भरकम संस्थानों के ये आलम हो तो इस शहर का भगवान ही मालिक है। बताया गया है कि कोचिंग संस्थान के संचालक विनय जैन को नगर निगम ने ३० हजार का चालान काटकर थमा दिया है। इसी प्रकार राइट टाउन में भारत सेवा संघ की बिल्डिंग में चल रही एक कोचिंग में टॉयलेट और बाथरुम में गंदगी होने का आरोपी बच्चों ने लगाया। यहां भी चालानी कार्रवाई की गई। 
एक्सपायरी डेट की निकली फायर सेफ्टी.......
सूत्रों के मुताबिक इंजीनियर और डॉक्टर बनाने वाली कोचिंग संस्था मोमेंटम कोचिंग क्लास के तो और भी बुरे हाल निकले। यहां जितनी संख्या में बच्चे पढ़ रहे थे उतनी संख्या में बैठने की व्यवस्था नहीं थी। साथ ही मोमेंटम के सेफ्टी फायर के दो उपकरण थे वे भी एक्सपायरी डेट निकले, और यहां के किचिन से घरेलू रसोई सिलेण्डर व पुस्तके बरामद की गई। यहां किचिन में और लेट-बाथ में गंदगी का चालान काटा गया। 
सतर्वâता की खाना पूर्ति..........
जिला प्रशासन और नगर निगम प्रशासन द्वारा  की गई संयुक्त कार्रवाई से कोचिंग संस्थानों में खलबली मची रही, लेकिन प्रशासन की यह कार्रवाई भी खानापूर्ति ही साबित हुई। कोचिंग संस्थानों में न आने जाने का रास्ता देखा गया, न ही पार्विंâग की व्यवस्था देखी गई  और न ही यह देखा गया कि कौन सो कोचिंग नियम के मुताबिक चल रहा और कौन सा नहीं किसी भी अप्रत्याशित घटना से बचने के लिये पर्याप्त सुरक्षा के इंतजाम है या नही इसके इतर प्रशासन टॉयलेट बाथरुम का निरीक्षण कर चालान काटा है। प्रशासन ने इनके अलावा समीर क्लासेस, वर्धमान कोचिंग, मोमेंटम क्लासेस, उपनगरी क्षेत्रों में भी खुली कोचिंग की कार्रवाई की। 
ये रहे मौजूद...........
राज्य सरकार के निर्देशों के बाद हरकत में आये जिला प्रशासन की कार्रवाई में एस.डी.एम, ओम नम:शिवाय अरजरिया, आशीष पांडे, नगर निगम के उपायुक्त राकेश आयाची सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।