चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को एक और झटका दिया है। सीएम ने राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों की समीक्षा और इनमें जरूरी बदलाव करने के लिए कैबिनेट की आठ सलाहकार कमेटियां बनाई हैैं। तीसरे नंबर के सीनियर मंत्री होने के बावजूद नवजोत सिंह सिद्धू को किसी भी कमेटी में नहीं शामिल किया गया है। इस तरह अपने खिलाफ बयानबाजी कर रहे सिद्धू को कैप्‍टन ने जाेर का झटका देते हुए किनारा लगा दिया है। चिकित्सा शिक्षा मंत्री ओपी सोनी को भी किसी कमेटी में जगह नहीं दी गई है।

अमरिंदर ने बनाई आठ कमेटियां लेकिन किसी में सिद्धू को जगह नहीं, ओपी सोनी को भी झटका

स्थानीय निकाय विभाग से सिद्धू को हटाए जाने के बाद शहरों की कायाकल्प और प्रोग्रामों में सुधार लाने की कमान खुद मुख्यमंत्री ने संभाल ली है। इस कमेटी के वह चेयरमैन होंगे। उल्लेखनीय है कि पिछले वीरवार को कैप्टन ने सिद्धू का विभाग बदल दिया था और स्‍थानीय निकाय विभाग वापस लेकर उन्हें ऊर्जा विभाग दे दिया था। इसके बाद अब सिद्धू को दूसरा झटका लगा है।

 शहरों में सुधार की कमान  सीएम ने खुद संभाली    

मुख्यमंत्री द्वारा बनाई गई सभी कमेटियां महकमों के साथ बैठकें करके जुलाई में होने वाली कैबिनेट बैठक में अपनी रिपोर्ट पेश करेंगी ताकि उनके द्वारा की गई सिफारिशों के अनुसार नीतिगत फैसलों में बदलाव लाया जा सके। कमेटी का चेयरमैन यदि चाहे तो किसी भी सदस्य को बदल सकता है।    

कैप्टन ने कहा कि सरकार ने अपने पिछले दो सालों में गरीबों के हितों के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं। इनके नतीजे भी सामने आए हैं, लेकिन विभिन्न इलाकों के दौरे पता चला है कि चुने हुए नुमाइंदों और समुदायों की इन प्रोग्रामों/स्कीमों को लागू करने में भागीदारी को और असरदार बनाने की जरूरत है। सभी कमेटियों में विभिन्न विभागों के सीनियर अधिकारी सदस्य होंगे। शहरी कायाकल्प व सुधार कमेटी में अमृतसर, लुधियाना, जालंधर व पटियाला के मेयर भी शामिल किए गए हैं।

-----

कमेटियां व सदस्य

शहरी कायाकल्प व सुधार

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह इसके चेयरमैन होंगे। स्थानीय निकाय मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा, वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल, भवन निर्माण एवं शहरी विकास मंत्री सुखबिंदर सिंह सरकारिया, लोक निर्माण मंत्री विजय इंदर सिंगला, खाद्य एवं सिविल सप्लाई मंत्री भारत भूषण आशू, परगट सिंह, सुशील कुमार रिंकू, सुनील दत्ती, अमित विज, गुरकीरत सिंह कोटली, सुरिंदर कुमार डावर और डॉ. हरजोत कमल (सभी विधायक) इस कमेटी के सदस्य होंगे।

ड्रग्स संबंधी कमेटी

मुख्यमंत्री इसके भी चेयरमैन होंगे। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू, ग्रामीण विकास एवं पंचायत मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा, शिक्षा मंत्री विजय इंदर सिंगला, डीजीपी दिनकर गुप्ता और एसटीएफ चीफ एडीजीपी गुरप्रीत कौर दिओ इसके सदस्य होंगे।

कर्जमाफी

सहकारिता मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा को किसानों व खेत मजदूरों की कर्जमाफी कमेटी का चेयरमैन होंगे। राजस्व मंत्री गुरप्रीत सिंह कांगड़ और कल्याण मंत्री साधू सिंह धर्मसोत को इसका सदस्य बनाया गया है।

स्वास्थ्य बीमा 

स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू इस कमेटी के चेयरमैन होंगे। सामाजिक सुरक्षा मंत्री अरुणा चौधरी इसकी सदस्य होंगी।

घर-घर रोजगार

रोजगार सृजन और तकनीकी शिक्षा मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी को इस कमेटी का चेयरमैन बनाया गया है, जबकि श्रम मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू और उद्योग मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा इसके सदस्य होंगे।

खाद्य सुरक्षा-स्मार्ट राशन कार्ड

खाद्य एवं सिविल सप्लाई मंत्री भारत भूषण आशू इस कमेटी के प्रमुख होंगे। ग्रामीण विकास एवं पंचायत मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा, सामाजिक सुरक्षा मंत्री अरुणा चौधरी इस कमेटी की सदस्य होंगी।

ग्रामीण विकास, मनरेगा व ग्रामीण भवन निर्माण

ग्रामीण विकास, पंचायत एवं पशुपालन मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा इस कमेटी के चेयरमैन होंगे, जबकि समाज कल्याण मंत्री साधु सिंह धर्मसोत, जल सप्लाई और सेनिटेशन मंत्री रजिया सुल्ताना इसकी सदस्य होंगी।

मिशन तंदुरुस्त पंजाब

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू इस कमेटी के प्रमुख होंगे। वन मंत्री साधू सिंह धर्मसोत, जल स्रोत मंत्री सुखबिंदर सिंह सरकारिया, रजिया सुल्ताना और खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी इसके सदस्य होंगे।