भोपाल। प्रदेश में जब से कमलनाथ सरकार आई है कानून व्यवस्था ठप हो गई है। प्रदेश बदतर स्थिति में पहुंच गया है। बच्चियों पर अत्याचार की घटनाएं बढ़ रही हैं। प्रदेश सरकार यदि बच्चियों पर हो रहे अत्याचार रोकने के लिए प्रभावी कदम नहीं उठाती है, तो हम कांग्रेस सरकार के खिलाफ सड़कों पर संघर्ष करेंगे। यह बात पूर्व मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराजसिंह चौहान ने दुष्कर्म और हत्या की शिकार बच्ची के घर पर मीडिया से चर्चा करते हुए कही।
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान सोमवार सुबह पीड़ित बच्ची के मांडवा बस्ती स्थित घर पहुंचे और परिजनों को सांत्वना दी। इस दौरान उनके साथ नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव भी थे। इस अवसर पर मीडिया से चर्चा करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि कमलनाथ सरकार के कार्यकाल में प्रदेश की स्थिति बदतर होती जा रही है। सरकार ट्रांसफर और पोस्टिंग के उद्योग में व्यस्त है और कानून व्यवस्था पर उसका ध्यान ही नहीं है। बार-बार के तबादलों से पुलिसकर्मियों और अधिकारियों का मनोबल भी गिरा है, जिससे उनकी कार्यक्षमता प्रभावित हुई है। उन्होंने कहा कि बच्ची के साथ हुए अपराध की गंभीरता को देखते हुए प्रदेश सरकार ने 5 लाख की मदद देने की जो घोषणा की है,  वह नाकाफी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार यदि कानून व्यवस्था की स्थिति में सुधार नहीं लाती है, महिलाओं-बच्चियों पर हो रहे अत्याचार नहीं रोकती है, तो भाजपा सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरकर आंदोलन करेगी। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने दुष्कर्मियों को फांसी देने का कानून बनाया था, जिसके तहत कई अपराधियों को फांसी की सजा हो चुकी है। लेकिन किसी न किसी कानूनी बाधा के कारण फांसी नहीं दी जा सकी है। उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर वे चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया को पत्र लिखेंगे, ताकि अपराधियों को जल्द से जल्द फांसी दी जा सके।