मुंबई। हाल ही में मुंबई के नायर अस्पताल में निवासी डॉक्टर के रूप में पढ़ाई कर रही डॉक्टर पायल तडवी ने अस्पताल हॉस्टल में फांसी के फंदे से लटक कर खुदकुशी कर ली थी. ये मामला शांत भी नहीं हुआ है कि फिर एक प्रशिक्षु डॉक्टर ने खुदकुशी कर ली. मिली जानकारी के अनुसार २१ वर्षीय ओंकार महेश ठाकुर नाम का डॉक्टर मुंबई के दादर पश्चिम स्थित कोहिनूर टॉवर की पांचवी मंजिल पर रहता था. ओंकार ने सोमवार सुबह ४ बजे के करीब खुदकुशी की. ओंकार केईएम अस्पताल में फिजियोथेरेपी के तृतीय वर्ष का छात्र था. बताया जा रहा है कि उसकी परीक्षा होनेवाली थी पर वह तैयारी नहीं कर पाने से निराश था. आत्महत्या से पूर्व देर रात तक ओंकार ने भारत-पाकिस्तान के बीच खेले गए मैच का आनंद उठाया. मैच खत्म होने के बाद ओंकार छत पर गया और वहां से नीचे कूद गया. इमारत के पास से गुजर रहे एक शख्स ने खून से लथपथ ओंकार को जमीन पर गिरा देखा और उसने इमारत के अन्य लोगों को इसकी सूचना दी. उसे तुरंत सायन अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. बता दें कि इससे पहले नायर अस्पताल में निवासी डॉक्टर पायल तडवी ने अस्पताल में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी. पायल के परिजनों ने नायर अस्पताल की तीन वरिष्ठ डॉक्टरों पर पायल को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था जबकि ओंकार की खुदकुशी की वजह अभी स्पष्ट नहीं हो सकी है. बताया जा रहा है कि खुदकुशी करने से कुछ देर पहले ओंकार ने अपने पिता से फोन पर बात की थी. ओंकार ने पिता को बताया था कि वह अगले दिन होनेवाली परीक्षा की तैयारी पूरी नहीं कर सका है. बहरहाल पुलिस इस मामले की जांच में जुटी है.