नई दिल्ली : डिजिटल वैलेट पेटीएम (Paytm) ने उन खबरों का खंडन कर दिया, जिनके अनुसार, वह अपने प्लेटफॉर्म्स पर डिजिटल ट्रांजेक्शंस के लिए यूजर्स पर चार्ज लगाने वाली है. नोएडा स्थित कंपनी ने एक बयान में कहा, 'हम यह साफ करना चाहेंगे कि वन97 कंम्यूनिकेशंस लिमिटेड के अधिग्रहण वाला पेटीएम एप/पेमेंट गेटवे अपने उपभोक्ताओं से कार्डस, यूपीआई, नेट बेंकिंग और बैलेट जैसे किसी भुगतान के लिए किसी सुविधा या भुगतान शुल्क के तौर पर रुपये नहीं लेता है.'

कुछ मीडिया रिपोर्टस में किया गया था दावा
कंपनी ने कहा, 'पेटीएम यूजर्स इस प्लेटफॉर्म पर सभी सुविधाओं को बिना किसी शुल्क के उपयोग करते रहेंगे.' इकोनॉमिक टाइम्स की रविवार की रिपोर्ट के अनुसार, पेटीएम कथित तौर पर क्रेडिट कार्ड्स के माध्यम से भुगतान करने पर एक प्रतिशत, डेबिट कार्ड्स के माध्यम से भुगतान करने पर 0.9 प्रतिशत और नेटबैंकिंग और यूपीआई आधारित माध्यमों से भुगतान करने पर 12-15 रुपये तक वसूल करेगा.

भविष्य में कोई शुल्क वसूलने की योजना नहीं
डिजिटल पेमेंट कंपनी के अनुसार, शैक्षणिक सेवा या लाभ सेवा प्रदाता जैसे कुछ व्यापारिक संस्थान हैं जो क्रेडिट कार्ड का शुल्क नहीं काट सकते हैं और ग्राहकों से इसी माध्यम से भुगतान की अपेक्षा करते हैं. कंपनी ने कहा, 'ऐसे मामलों में हमने यूजर्स को इन शुल्कों से बचने के लिए डेबिट कार्ड्स और यूपीआई के माध्यम से भुगतान करने की सलाह दी है. हम इस पर जोर देना चाहेंगे कि पेटीएम ये शुल्क किसी भी परिस्थिति में नहीं लेती.' कंपनी ने कहा कि उसका भविष्य में भी ऐसा कोई शुल्क वसूलने की योजना नहीं है.