जबलपुर। जबलपुर के सांसद और भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री राकेश सिंह यूं तो 2011 से जल के संरक्षण की मुहिम चला रहे हैं। उन्होंने 2011 में सैकड़ों किलोमीटर की जल रक्षा यात्रा निकाली। संगोष्ठी की और तालाबों को अतिक्रमण से मुक्त कराकर उन्हें संरक्षित कियालेकिन आज उनके हिस्से में एक विशेष उपलब्धि जुड़ गई। उनके आव्हान पर जबलपुर के निकट गौर नदी पर जन सहयोग से एक बांध तैयार किया गया। इस बांध के निर्माण में श्री राकेश सिंह ने हजारों लोगों के साथ स्वयं भी निरंतर श्रमदान किया। यह विशेष उपलब्धि इसलिए हैक्योंकि प्रधानमंत्री जी के आह्वान के बाद यह बांध देश में जन सहयोग की पहली जीवंत कृति बन गया है। प्रधानमंत्री जी ने हाल ही में मन की बात में पानी के संरक्षण के लिए जनभागीदारी और जनचेतना पर जोर दिया था। जबलपुर का यह बांध देश में पहला बांध हैजो जन सहयोग से मात्र 9 दिन में तैयार हुआ। आज वहां लगभग 11 फीट पानी रुकने के बाद आगे बढ़ रहा है। जिस स्थान पर बांध बनाया गया हैवहां भूजल स्तर 300 फीट के नीचे जा चुका है। केंद्रीय जल शक्ति मंत्री श्री गजेंद्र शेखावत आज उसका लोकार्पण करने पहुंचे। इस अवसर पर पर्यावरणविद पद्मश्री’ श्री महेश शर्मा एवं प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री राकेश सिंह उपस्थित थे।

                बांध के लोकार्पण के अवसर पर केंद्रीय मंत्री शेखावत ने कहा कि हमारे देश में दुनिया की 18 प्रतिशत आबादी रहती है और पानी की उपलब्धता सिर्फ 4 प्रतिशत है। स्थिति गंभीर है। हमारे लिए यह बहुत जरूरी है कि हम जल का संरक्षण करेंविवेकपूर्ण उपयोग करें और उपयोग किए गए जल का पुर्नउपयोग करें। जल संरक्षण का हमारा आंदोलन जब तक पड़वार ग्राम में इस बांध के निर्माण की तरह जन आंदोलन नहीं बन जाताहम आने वाली पीढ़ियों के लिए जल सुरक्षित नहीं रख पाएंगे। हमें सोच बदलनी पड़ेगी। हम बहुत आसानी से कह देते हैं कि पानी की तरह पैसा बहा दिया“, अब हमें कहना चाहिए किपैसे की तरह पानी को खर्च करें