छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में बिना बताए मायके जाने को लेकर पति-पत्नी में घरेलू विवाद (Domestic Violence) हो गया. विवाद इतना ज्यादा बढ़ गया कि नौबत मारपीट तक पहुंच गई. इसके बाद गुरुवार देर रात महिला ने फांसी लगाकर खुदकुशी (Suicide) कर ली. पति ने महिला का शव कमरे में रस्सी से लटका हुआ देखा, जिसके बाद वह पड़ोसियों की मदद लेकर उसे अस्पताल ले गया. हालांकि अस्पताल में डॉक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया. घटना कोतवाली क्षेत्र के कतियापारा की है.

पूरा मामला

कतियापारा निवासी योगेश नामदेव की शादी राधा नामदेव से करीब 9 माह पहले हुई थी. योगेश एक बेकरी (Bakery) में काम करता है. इसी क्रम में गुरुवार को उसकी पत्नी अपनी बड़ी मां के साथ मां का हाल-चाल जानने अस्पताल गई थी. इसके बाद वह अपने मायके चली गई और शाम को वापस लौटी.

दूसरे कमरे में फंदे पर लटकी मिली लाश
इस दौरान घर आने के बाद राधा ने योगेश को फोन पर खाना लेते आने के लिए कहा. योगेश बिरयानी लेकर घर पहुंचा. इसके बाद पति-पत्नी खाना खाने लगे, तभी राधा ने अपनी मां को देखने की बात बताई. इस पर योगेश ने बिना बताए जाने पर नराजगी जताई, जिसके बाद दोनों ने एक-दूसरे को गुस्से में थप्पड़ (Slapped) मार दिया. फिर दोनों सोने चले गए. इसके बाद आधी रात में राधा ने उठकर फांसी लगा ली.

'सोचा नहीं था एक चांटे का इतना बुरा मान जाएगी'
इधर, संबंधित मामले में योगेश का कहना है कि विवाद हुआ तो राधा ने पहले उस पर हाथ उठा दिया, जिस पर योगेश ने भी उसे चांटा मार दिया. झगड़ा खत्म होने के बाद वे सोने चले गए. इस बीच जब रात करीब एक बजे उठा तो देखा राधा कमरे में नहीं थी. फिर दूसरे कमरे में जाकर देखा तो राधा रस्सी के फंदे पर झूल रही थी. योगेश ने सोचा भी नहीं था कि एक चांटे का इतना बुरा मान जाएगी.