इंदौर । मप्र की कारोबारी राजधानी इंदौर में शुक्रवार से शुरु होने वाले मैग्नीफिसेंट एमपी में करीब 800 उद्योगपति शिरकत करने वाले है। उद्योगपति मुकेश अंबानी इस मीट में शामिल नहीं होंगे वे  इसमें वेबकास्ट के जरिये मुखातिब होंगे। इनके अलावा दिग्गज कारोबारी कुमार मंगलम बिडला, आदी गोदरेज, विक्रम किलोस्कर और दिलीप संघवी भी शामिल हैं।
मैग्नीफिसेंट एमपी  को लेकर आयोजित एक प्रेसवार्ता में मुख्य सचिव सुधी रंजन मोहन्ती ने इसकी जानकारी दी।  मुख्य सचिव ने बताया मीट के लिए 1500 लोगो को आंमत्रित किया गया था, जिनमें से 800 उद्योगपति इस इन्वेस्टर मीट में आ रहे है। ऐसे माहौल में जहां पर उम्मीद कम थी, व्यवसायिक घरानों से जुड़े लोगों का 800 की तादाद में आना हमारे लिए खुशी की बात है। उन्होंने बताया कि इसमें संभावित निवेश लगभग 31,500 करोड का होगा और लगभग 1.03 लाख रोजगार की संभावना बनेगी। मोहंती ने बताया कि सरकार का जोर फार्मो, फूड प्रोसेसिंग, विंड एनर्जी पर ज्यादा होगा। बताया जाता है कि सरकार ने उद्योगों के लिए 20 हजार एकड़ का लैंड बैंक बनाया है। जिसके तहत सभी जिलों में भूमि चिंहित है। आज एग्जिबिशन की प्रदर्शनी लगी है, 18 अक्टूबर को ही मुख्य कार्यक्रम होगा। उन्होंने बताया 8 सेशंस में उद्योगपति उपलब्ध रहेंगे। स्पेशल मीटिंग में 60 से 70 उद्योगपति उपलब्ध रहेंगे। जो देश के बड़े मीडिया समूहों से सीधा संवाद करेंगे। 
सीएस ने बताया हम लोगों ने यहां भीड़ को नहीं बुलाया है। जो वास्तविकता में मध्यप्रदेश में निवेश करने की इच्छा रखते हैं उन्हें ही बुलाया गया है। औद्योगिक घराने से या तो नंबर वन या नंबर 2 को भेजा जाए ताकि निर्णय मौके पर लिया जा सके। बड़े औद्योगिक घराने फूड प्रोसेसिंग सेक्टर में निवेश करने जा रहे हैं। इससे हमारे किसानों को फायदा होगा। इस मामले में बड़ी तादाद से रोजगार भी आता है। मध्य प्रदेश में पिछले दिनों फार्मासिटी कल इंडस्ट्री के लिए भी अच्छा स्कोप रहा है।