मुंबई । भारतीय महिला अंडर-17 फुटबॉल टीम अगले साल होने वाले फीफा अंडर-17 विश्व कप की तैयारी के लिए 13 दिसंबर से यहां थाईलैंड और स्वीडन के खिलाफ होने वाले तीन देशों के अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में भाग लेगी। अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) ने दावा किया है कि यह देश में आयोजित इस आयु वर्ग का पहला अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट होगा।इस टूर्नामेंट का आयोजन यूएफा असिस्ट और एशियाई फुटबॉल महासंघ के तत्वावधान में किया जा रहा है। यूएफा असिस्ट यूरोपीय फुटबॉल की संचालन संस्था का अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम है जिसमें महाद्वीप के बाहर राष्ट्रीय संघों और परिसंघों की जरूरत पर ध्यान दिया जाता है।एआईएफएफ ने कहा, '' 2020 फीफा महिला अंडर-17 विश्व कप की तैयारियां जोर शोर से चल रही हैं और ऐसे में मुंबई फुटबॉल एरेना अंडर-17 महिला फुटबॉल टूर्नामेंट 2019 की मेजबानी करेगा जो लड़कियों के लिए अपनी तरह का पहला अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट है। भारत इसमें स्वीडन और थाईलैंड से खेलेगा जो दोनों वैश्विक स्तर पर महिला फुटबॉल की बड़ी टीमें हैं। वहीं इस मामले में एआईएफएफ के महासचिव कुशाल दास ने कहा कि इस टूर्नामेंट के जरिए भारतीय लड़कियों को स्तरीय प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ खेलने का मौका मिलेगा। भारतीय टीम के कोच थामस डेनरबी का मानना है कि इस टूर्नामेंट से टीम को काफी फायदा होगा।