नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill) के खिलाफ दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस (Congress) ने भारत बचाओ रैली (Bharat Bachao Rally) का आयोजन किया. इस दौरान सोनिया गांधी (Sonia Gandhi), प्रियंका (Priyanka Gandhi) और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) सहित कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा. कांग्रेस ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार की गलत नीतियों की वजह से देश की अर्थव्यवस्था (Indian Economy) खराब दौर में गुजर रही है. इस रैली में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) सहित कांग्रेस के कई नेताओं ने हिस्सा लिया. साथ ही केंद्र सरकार पर निशाना साधा.

सीएम भूपेश बघेल का ट्वीट

कांग्रेस की भारत बचाव रैली को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एक ट्वीट भी किया. उन्होंने कहा कि आज ऐसा लगता है कि बंदर के हाथ में उस्तरा आ चुका है. ये केवल जलाना जानते हैं, ये केवल काटना और बांटना जानते हैं.
केंद्र सरकार पर निशाना

छत्तीसगढ़ के खाद्य आपूर्ति मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि भारत बचाव रैली से कार्यकर्ताओं में नई उमंग आई है. भाजपा के रामलीला मैदान के शुद्धिकरण करने के फैसले पर उन्होंने कहा कि ये लोग मानसिक विकलांग हो गए हैं. इस तरह की सोच देश के लोगों के प्रति रखना भी मानसिक विकलांगता की निशानी है. मंत्री भगत ने कहा कि देश में भाजपा या कांग्रेस के लोग न रहे तो निर्मण कैसे होगा. हर मोर्चे पर फेल है केन्द्र सरकार, इसलिए भाजपा बौखला गई है. उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि बहुत लंबे समय तक ऐसा नहीं चलेगा, एक समय के बाद चीजे खुलती तो बहुत से लोग जेल जाते हैं.

शुद्धिकरण मसले पर सियासत

पीएम नरेंद्र मोदी की रैली से पहले रामलीला मैदान का शुद्धिकरण करने फैसले से कांग्रेस आक्रामक हो गई है. छत्तीसगढ़ के नगरीय विकास मंत्री शिव डहरिया ने कहा कि शुद्धिकरण तो PMO का करना चाहिए. इस देश को कंगाली के कगार पर डाल दिया. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार वो काम कर रही जो अंग्रेज भी नहीं कर पाए. देश को बांटने का काम पहले किसी ने नहीं किया है. जाती धर्म के नाम पर भाईयों को लड़ाने का काम मोदी सरकार कर रही है.

तो वहीं पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि केंद्र सरकार अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए प्रोपेगेंडा कर रही है. 4 करोड़ लोगों का रोजगार नोटबन्दी की वजह से छिन गया. इससे भटकाने के लिए यह प्रोपेगेंडा भाजपा कर रही है. देश के लोग इस बहकावे में नहीं आएंगे. रामलीला मैदान के शुद्धिकरण पर उन्होंने कहा कि भाजपा पहले खुद शुद्ध हो जाए, फिर अपने अपराधों में लिप्त विधायक, सांसदों का शुद्धिकरण करें. इसके बाद देश और रामलीला मैदान का शुद्धिकरण करें.