रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने कांग्रेस (Congress) की महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) के बयान का समर्थन किया है. प्रियंका गांधी के बयान 'गेरवा वस्त्र किसी की किसी की बपौती नहीं है' का समर्थन करते हुए सीएम बघेल ने कहा- भगवा रंग को गेरुआ वस्त्र कहा जाता है, जो त्याग का परिचायक है. गेरुआ वस्त्र और ध्वजा शिवाजी महाराज ने अपनाया था और अपना पूरा राजपाठ समर्पित कर दिया था. यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ भगवा रंग धारण कर लिए हैं, लेकिन सांसारिक मोहमाया का त्याग नहीं किया बल्कि कुर्सी से चिपक गए हैं.

सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने क​हा- सही मायने में भारत के साधु-संतों ने जिस भगवा रंग को अपनाया उसे त्याग की भावना से अपनाया. यहां त्याग नहीं दिखाई देता. उत्तर प्रदेश में तो जातिवाद दिखाई दे रहा है. योगी आदित्यनाथ वहां जातिवाद फैला कर रखे हैं. गेरुआ वस्त्र त्याग का रंग है हरा रंग हरियाली और उसी प्रकार से सफेद सादगी का परिचायक है, लेकिन आप स्वयं को साधु बताकर गेरुवा धारण कर रहे हैं और मोह माया में फंसे हुए हैं. यह रंग इसलिए नहीं है कि सत्ता प्राप्त किया जाए. इस दौरान उन्होंने उमा भारती और प्रज्ञा ठाकुर पर भी तंज कसते हुए कहा कि प्रज्ञा ठाकुर को मैं साध्वी नहीं मानता.
..तो जहर उगलती हैं

सीएम भूपेश बघेल ने प्रज्ञा ठाकुर पर तंज कसते हुए कहा- वह जब भी जुबान खोलती हैं तो जहर उगलती हैं. यह साधु का लक्षण नहीं होता. धान खरीदी की तिथि बढ़ाए जाने पर कहा कि अभी पूरा जनवरी माह बाकी है. उसके बाद फरवरी आ जाएगा. यदि उस पर भी धान खरीदी पूरी नहीं हो पाई तब तिथि आगे बढ़ाई जाएगी. रायपुर में महापौर बनाने के बीजेपी के दावे और कांग्रेस में फूट पड़ने वाले बयान पर सीएम ने कहा- 'अफवाह फैलाने में बीजेपी का कोई मुकाबला नहीं है. वह तो एक ही दिन में गणेश को दूध पिला देते हैं. बीजेपी कुछ भी कर सकती है. अफवाह फैलाने में उन्हें महारत हासिल है.'