आगरा। मौनी अमावस्या के दिन कैलाश महादेव मंदिर पर प्रतिवर्ष लाखों की संख्या में आने वाले श्रद्धालुओं और क्षेत्रीय लोगों के लिए खुश कर देने वाली खबर आई है। अब क्षेत्रीय लोग और श्रद्धालु गंगाजल से भगवान महादेव का जलाभिषेक कर सकेंगे। शुक्रवार को आरएसएस के प्रांत प्रचारक हरीश रौतेला जी और महापौर नवीन जैन ने मंदिर में लगे नल को खोलकर गंगाजल आपूर्ति का शुभारंभ किया और मंदिर परिसर में मौजूद सभी के ऊपर गंगाजल छिड़का। इस दौरान सभी ने हर-हर गंगे और भगवान महादेव के जयकारे लगाए। इसके बाद विधिवत पूजन करते हुए प्रांत प्रचारक हरीश रौतेला जी और महापौर नवीन जैन ने संयुक्त रूप से भगवान महादेव का जलाभिषेक किया।
 
भगवान महादेव की जटा से धरती पर अवतरण होने वाली गंगा मैया को जब आज यमुना तट के किनारे बसे कैलाश मंदिर पर भगवान महादेव का गंगाजल से जलाभिषेक होते हुए देखा तो परिसर में मौजूद सभी लोग हाथ जोड़कर-शीष नवाकर अपने आप को धन-धान्य मान रहे थे। वहीं गंगाजल से अभिषेक किये जाने जाने के बाद मंदिर के महंत श्री निर्मल गिरी ने मंत्रोच्चारण के साथ भगवान शिव का रुद्राभिषेक भी करवाया। प्रांत प्रचारक हरीश रौतेला जी और महापौर नवीन जैन ने दूध, दही, घी, शक्कर और शहद आदि से शिवलिंग का रुद्राभिषेक किया और हाथ जोड़कर भगवान महादेव का आशीर्वाद लिया।

इस अवसर पर महापौर नवीन जैन का कहना था कि कैलाश महादेव मंदिर अति प्राचीन मंदिर है। प्रतिवर्ष लाखों की संख्या में श्रद्धालु यहां आते हैं। इसलिए मंदिर के महत्व को देखते हुए भगवान शिवलिंग का गंगाजल से अभिषेक हो इस दिशा में हमने प्रयास करते हुए गंगाजल लाने हेतु पाइपलाइन डाली थी। आज आरएसएस के प्रांत प्रचारक हरीश रौतेला जी ने गंगाजल से अभिषेक कर इसकी शुरुआत की है। इससे लाखों श्रद्धालु लाभान्वित तो होंगे ही, साथ ही उन श्रद्धालुओं की भी परेशानी दूर होगी जो दूर से अपने साथ गंगाजल लाकर यहां चढ़ाने आते थे। अब श्रद्धालुओं को इस परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा और यहीं से गंगाजल लेकर शिवलिंग का न केवल जलाभिषेक कर सकेंगे बल्कि इस गंगाजल को अपने साथ ले जा सकेंगे।

वही मंदिर महंत श्री निर्मल गिरी जी का कहना था कि महापौर नवीन जैन जी के प्रयास से मौनी अमावस्या जैसे शुभ दिन पर कैलाश महादेव मंदिर में गंगाजल आना शुरू हुआ है। पहले यमुना नदी के पानी से ही जलाभिषेक करना पड़ता था। कई बार पानी गंदे होने की समस्या भी आती थी लेकिन अब साफ और स्वच्छ गंगाजल मंदिर पर हमेशा उपलब्ध होगा।

इस मौके पर आरएसएस के विभाग संघचालक हरिशंकर जी, आलोक कुलश्रेष्ठ जी, पूर्व विधायक रामबाबू हरित जी, महंत सोमेश गिरी जी, जलकल जीएम आर एस यादव, जलकल जेई अनूप सूद, पार्षद नीरज पाराशर, पार्षद सुषमा जैन, राधा शर्मा आदि मौजूद रहे।