लंदन । सेहत के प्रति उदासीन रहने वालों को यह खबर चिंता में डाल सकती है। एक अध्ययन में दावा किया गया है कि केवल दो सप्ताह घर में खाली बैठने से व्यक्ति की सेहत में गिरावट आने लगती है। लंबे समय तक यहीं स्थिति रहने पर टाइप-2 डायबिटीज, हृदय संबंधी बीमारी और आघात का खतरा बढ़ जाता है। शोध में विशेषज्ञों ने कहा कि शारीरिक सक्रियता की कमी दो सप्ताह में ही सेहत बिगाड़ना शुरू कर देती है। इस तरह का जीवन जीने वाले लोगों में लंबे समय में गंभीर बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। विशेषज्ञों का कहना है कि शारीरिक शिथिलता के प्रभाव को कुछ आसान उपायों की मदद से कम किया जा सकता है। ऑफिस में ज्यादातर समय कुर्सी पर बैठे रहना, कार से ऑफिस जाना या छुट्टियों में कोई खास शारीरिक श्रम नहीं करना काफी हानिकारक होता है। इससे बचने के लिए ऑफिस में लिफ्ट के स्थान सीढ़ी का इस्तेमाल करना बेहतर होगा।