भोपाल.मध्यप्रदेश (Madhya pradesh) में कोरोना (corona) के संभावित मरीजों पर अब मोबाइल एप (mobile app) से नज़र रखी जाएगी. सरकार ने मॉनिटरिंग के लिए ‘सार्थक‘ मोबाइल एप लॉन्च किया है. इस संबंध में स्वास्थ्य आयुक्त प्रतीक हजेला ने सभी जिला कलेक्टर को ज़रूरी निर्देश दे दिए हैं.

प्रतीक हजेला ने सभी कलेक्टरों से कहा कि क्वारेंटीन किए गए सभी संभावित मरीज और कोरोना पॉजिटिव मरीजों को इस एप पर रजिस्टर कर उनकी रोज मॉनिटरिंग की जाए. ये ऐप मैप आईटी ने डेवलप किया है. इसमें होम क्योरेंटाइन व्यक्ति की यूजर आई.डी. बनाकर उसका रजिस्ट्रेशन किया जाएगा. साथ ही एप से व्यक्ति की जियो मैपिंग होगी और उसकी गतिविधियाँ भी चिन्हित की जा सकेंगी. कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की हेल्थ रिपोर्टिंग भी सार्थक एप के ज़रिए होगी.

लॉकडाउन में भी उपयोगी


लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने जो जानकारी दी है उसके मुताबिक वायरस की रोकथाम के लिए थ्री लेयर मास्क, 95 -मास्क, संक्रमण से बचने के लिए पहना जाने वाला पीपीई किट आवश्यक है. यह सामान सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी और मेडिकल कॉलेज को उपलब्ध कराई जाती है. सभी जिला अधिकारियों को साफ निर्देश दिए गए हैं कि अगर कहीं ये सामान कम पड़ रहा है तो तत्काल आपस में को-ऑर्डिनेट कर सामान सप्लाई किया जाए.
फूड प्रोडक्ट्स परिवहन में छूट

लॉक डाउन के दौरान फल और फलों से बने सामान के लाने-ले जाने पर कोई रोक नहीं रहेगी. प्रबंध संचालक सह-आयुक्त मध्यप्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड संदीप यादव ने इस बारे में सभी भार साधक अधिकारी और सचिव कृषि उपज मण्डी समिति को निर्देश दिए हैं. उनसे कहा गया है कि सरकार ये छूट दे रही है इसकी जानकारी मंडी अफसरों को दी जाए ताकि उन्हें ये मालूम रहे. साथ ही, कॉ-ऑर्डिनेट करें ताकि अनाज, फल और सब्जी की सप्लाई में कोई दिक्कत ना हो.