पटना. बिहार में दो और कोरोना पॉजिटिव मरीजों (Corona positive patients) की संख्या बढ़ने के साथ ही आंकड़ा 60 पहुंच गया है. ये दोनों मरीज भी सिवान के ही हैं जिनमें एक 10 साल की बच्ची और एक 28 साल का युवक शामिल है. अब तक एक ही परिवार के कुल 23 लोग कोरोना से संक्रमित (Corona infected) हो चुके हैं. जाहिर है सिवान में धीरे-धीरे संक्रमण चेन बनता दिख रहा है और ये सभी ओमान से आये शख्स से फैल रहा है. वहीं बेगूसराय में भी चार जमातियों में कोरोना संक्रमण पाए जाने के बाद पटना की बेगूसराय से लगती सीमा सील कर दी गई है.

सिवान अपडेट

बिहार का सिवान जिला अब कोरोना संक्रमण के लिहाज से अतिसंवेदनशील हो गया है. गुरुवार को यहां 17 मामले और शुक्रवार की सुबह-सुबह दो और केस सामने आने के साथ सिवान जिले में ही कोरोना के कुल 29 मामले पॉजिटिव पाए गए हैं. हालांकि इनमें से चार मरीज ठीक भी हो चुके हैं.

हॉट स्पाट के रूप में सिवान में रघुनाथपुर पहले स्थान पर है. वहां एक ही परिवार के 23 लोग संक्रमित हैं इसका 10 प्रखंडों के 37 गांवों पर इसका असर पड़ा है, क्योंकि तीन किमी के दायरे में जो भी गांव आ रहे हैं, उन्‍हें संभावित संक्रमण के दायरे में लिया गया है. इसके अतिरिक्त सात किमी के दायरे को बफर जोन में डाला गया है.

बेगूसराय अपडेट

बेगूसराय में चार जमातियों के साथ पांच लोग कोरोना संक्रमित हैं. इन्होंने लौटने के बाद कई इलाकों में धर्म प्रचार भि किया था. इसी को देखते हुए जिले के कई क्षेत्र को सील कर दिया गया है. जिन इलाकों को सील किया गया है उनमें मंसूरचक प्रखंड, कादराबाद, गणपतौर, बहरामपुर, बनवारीपुर, कौलियापुर और मानोपुर प्रमुख हैं.

पटना अपडेट

पटना के सभी छह संक्रमित मरीजों को तो अस्पताल से छुट्टी मिल गई है और बीते आठ दिनों में कोई नया मामला भी सामने नहीं आया है. लेकिन बेगूसराय जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों के मिलने से संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया है.
पटना के डीएम कुमार रवि के आदेश पर दोपहर में ही बेगूसराय-पटना सीमा तथा इससे लगे सभी संभावित रास्तों को सील कर दिया गया है. अब गहन जांच पड़ताल के बाद ही आवश्यक वस्तुओं से संबंधित वाहनों का परिवहन जारी होगा, जबकि आम लोगों का आना-जाना पूरी तरह से बंद हो गया है.

पैदल और वाहन से भी किसी को आने जाने की इजाजत नहीं होगी.आकस्मिक सेवा के लिए स्वास्थ्य वाहनों और ड्यूटी करने वालों को छूट दी गई है. विशेष परिस्थिति में आने जाने के लिए प्रशासन की अनुमति लेनी होगी,नहीं तो कड़ी कार्रवाई की जा सकती है.