इंदौर. मध्य प्रदेश के इंदौर में कोरोना वायरस संक्रमण की जद में आये एक और डॉक्टर की मौत हो गई है। गौरतलब है कि गुरुवार को 62 वर्षीय डॉक्टर की मौत हो गई थी। जानकारी के अनुसार, डॉ. ओमप्रकाश चौहान की तीन दिन पहले ही कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट आई थी।

बताया जा रहा है कि डॉ. ओमप्रकाश चौहान डायबिटीज के पहले से ही मरीज थे और लॉकडाउन के बाद भी निजी क्लिनिक चला रहे थे। इसी दौरान वे कोरोना सें संक्रमित हो गए थे।

डॉक्टर की दूसरी मौत

कोरोना महामारी की वजह से इंदौर को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। प्रदेश में दूसरी बार किसी डॉक्टर की मौत कोरोना की वजह से हुई है। इससे पहले गुरुवार को 62 वर्षीय जनरल फिजिशियन डॉक्टर शत्रुघ्न पंजवानी की मौत हो गई थी। डॉक्टर की मौत के बाद इंदौर में स्वास्थ्यकर्मी और एहतियात बरत रहे हैं। कोरोना पीड़ितों के इलाज में लगे डॉक्टर और नर्सिंग स्टॉफों का प्रशासन विशेष ख्याल रख रही है। बताया जा रहा है कि कोरोना मरीजों के इलाज के दौरान ही वह संक्रमित हुए थे।

भोपाल में 50 संक्रमित

इंदौर के बाद राजधानी भोपाल की हालत सबसे ज्यादा खराब है। यहां कोरोना के 99 मरीज मिले हैं। 50 के करीब स्वास्थ्य विभाग के कर्मी और अफसर हैं। बढ़ते खतरे को लेकर सरकार ने सख्त फैसले भी लिए हैं। सरकार ने प्रदेश में एस्मा भी लागू कर दिया है।