नई दिल्ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई के मुद्दे पर आज फिर राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात कर रहे हैं. दोपहर तीन बजे से शुरू हुई इस मैराथन बैठक में सभी मुख्यमंत्रियों की राय ली जा रही. बैठक के शुरू होने के साथ ही सबसे पहले गृह मंत्री अमित शाह ने संबोधित किया.

सूत्रों ने बताया कि मीटिंग में पीएम मोदी ने कहा कि राज्य मिलकर काम कर रहे हैं. कैबिनेट सचिव, राज्यों के सचिव से लगातार संपर्क में हैं. अधिक फोकस रखें और सक्रियता बढ़ाएं. संतुलित रणनीति से आगे बढ़ें, चुनौतियां क्या हैं, मार्ग क्या होगा, इस पर काम करें.

पीएम ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि आप सभी के सुझावों से दिशा-निर्देश निर्धारित होंगे. भारत इस संकट से अपने आप को बचाने में बहुत हद तक सफल हुआ है. राज्यों ने अपनी जिम्मेदारी निभाई, दो गज की दूरी ढीली हुई तो संकट बढ़ेगा. हम लॉकडाउन कैसे लागू कर रहे हैं. यह बड़ा विषय रहा, हम सबकी भूमिका महत्वपूर्ण रही.

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे प्रयास रहे कि जो जहां है वहीं रहे, लेकिन मनुष्य का मन है और हमे कुछ निर्णय बदलने भी पड़े. गांव तक यह संकट न पहुंचे यही चुनौती अब है. आप सब आर्थिक विषयों पर अपने सुझाव दें.
 
दो सेशन में होगी बैठक
बहरहाल, बैठक का दो सेशन होगा. सबसे पहले पीएम नरेंद्र मोदी, आंध्र प्रदेश के सीएम जगन मोहन रेड्डी से बात करेंगे. इसके बाद कोरोना और लॉकडाउन पर पीएम नरेंद्र मोदी की बात अरुणाचल प्रदेश, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, छत्तीसगढ़, गुजरात, तेलंगाना, राजस्थान, उत्तराखंड, पंजाब, महाराष्ट्र, हरियाणा, त्रिपुरा, ओडिशा, केरल, असम, झारखंड, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, दिल्ली, गोवा, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, पुदुचेरी, सिक्किम, बिहार और हिमाचल प्रदेश के सीएम से होगी.


आखिर में पीएम नरेंद्र मोदी कोरोना को लेकर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बात करेंगे. 6 केंद्र शासित (जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, चंडीगढ़, दादरा नगर हवेली और दमन दीव, अंडमान और निकोबार, लक्षद्वीप) को आज बोलने का मौका नहीं मिलेगा. ये अपने विचार और सुझाव लिखित में भेज सकते हैं.


इन चार मसलों पर हो सकती है बात
लॉकडाउन के 47 दिन पूरे हो चुके हैं. तीसरा पार्ट भी खत्म होने वाला है. कोरोना लगातार रफ्तार बढ़ा रही है. लॉकडाउन लोगों की परेशानी बढ़ा रहा है. अर्थव्यवस्था पर भी चोट कर रहा है. ऐसे में आज की बैठक में चार मसलों में बात होनी तय है. पहला- कोरोना को कैसे काबू करें, दूसरा- लॉकडाउन चार या इसके पार, तीसरा- जिंदगी कैसे पटरी पर लौटे और चौथा- अर्थव्यवस्था को रफ्तार कैसे दें.

देश में कोरोना की स्थिति
देश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 67 हजार के पार पहुंच गया है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में कोरोना के कुल कंफर्म केस 67 हजार 152 है, जिसमें 2 हजार 206 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 20 हजार 917 लोग ठीक हो चुके हैं. पिछले 24 घंटे में 4200 से अधिक मामले सामने आए हैं और करीब 100 लोगों की मौत हो गई है.